झाबुआ. इंदौर में पदस्थ प्लाटून कमांडर नीलेश डामोर की पत्नी हर्षिला का शव शनिवार सुबह झाबुआ में एलआईसी कॉलोनी स्थित उसके पति के घर में फंदे पर लटका मिला। हर्षिला अपने पति के अवैध संबंधों को लेकर परेशान थी और दोनों के बीच आए दिन झगड़े होते रहते थे। शुक्रवार रात भी उनके बीच इसी बात को लेकर विवाद हुआ था। नीलेश और हर्षिला की शादी को 10 साल हो गए थे और उनके दो बच्चे हैं।

बताया जाता है कि इंदौर में किसी महिला से नीलेश के अवैध संबंध थे। इसकी जानकारी हर्षिला को लगी तो उसने आपत्ति ली। इस बात को लेकर अक्सर उनके बीच झगड़े होने लगे। बात मारपीट तक पहुंच गई थी। ऐसे में गत 31 अक्टूबर को हर्षिला ने इंदौर के पलासिया में स्थित महिला थाने पर शिकायत की थी कि उसे उसके पति से जान का खतरा है। दो दिन पहले ही वे लोग दोनों बच्चों को लेकर झाबुआ की एलआईसी कॉलोनी स्थित अपने घर आए थे। शुक्रवार देर रात एक बार फिर उनके बीच जमकर बहस हुई और शनिवार तड़के करीब 5 बजे हर्षिला का शव बेडरूम में फंदे पर लटका मिला। ऐसे में तत्काल पुलिस को सूचना दी गई। जानकारी लगने पर रिश्तेदार व पड़ोसी भी आ गए।

हर्षिला सीमावर्ती राजस्थान राज्य के बांसवाड़ा की रहने वाली है। उसकी मौत की खबर लगने पर उसके पिता विनय जॉर्ज, मां ज्योत्सना, बड़ी बहन विनिला और अन्य रिश्तेदार सुबह साढ़े 8 बजे ही झाबुआ पहुंच गए। जिला अस्पताल में विनिला ने आरोप लगाया कि उसकी बहन की हत्या की गई है।

उसके पति नीलेश के इंदौर की एक निजी बैंक में कार्यरत महिलाकर्मी से अवैध संबंध हैं। इसके चलते वह पिछले 6 महीने से हर्षिला को परेशान कर रहा था। विनिला के मुताबिक शुक्रवार रात नीलेश ने हर्षिला के साथ फिर से झगड़ा किया। रात साढ़े 12 बजे हर्षिला ने अपने पिता विनय को फोन कर झाबुआ बुलाया था। हर्षिला के पिता उसका शव बांसवाड़ा ले गए।

loading...